चूत के छेद पर लंड का सुपाड़ा-1


Please Share this Blog:

Desi kahani: हैल्लो फ्रेंड्स.. मेरा नाम राज है और में अहमदाबाद का रहने वाला हूँ और मेरी उम्र 20 साल है मुझे तो पता ही नहीं.. लेकिन लड़कियां बोलती है कि में बहुत हेंडसम हूँ और में जब चुदाई करता हूँ तो लड़कियों को जन्नत की सैर करा देता हूँ और 1 या 2 घंटे तक लड़की को छोड़ता भी नहीं हूँ.. जब तक उसको पूरी संतुष्टि नहीं मिलती बस चोदे ही जाता हूँ। आज तक जितनी भी लड़कियां या भाभी या आंटी को मैंने चोदा है वो आज भी मुझे याद किया करती है। मेरे लंड साईज़ 8 इंच लम्बा और 3 इंच मोटा है। में आपको आज मेरा अपना आखरी सेक्स अनुभव शेयर कर रहा हूँ जो कि मेरी भाभी के साथ है। दोस्तों यह बात अभी एक सप्ताह पहले की है। में स्टेशन पर मेरे दोस्त का इंतजार कर रहा था और वहां पर मैंने देखा कि एक जोरदार ब्यूटीफुल लड़की खड़ी थी। उसका क्या बदन यारों और क्या फिगर था? दोस्तों पता नहीं मेरी नज़र भी इतनी कातिल है कि में लड़की को देखकर ही उसका फिगर और उसके बारे में बता देता हूँ कि उसके साथ कितना मज़ा आएगा। उसका फिगर 34-28-34 था। क्या माल लग रह थी? यारो मेरा तो उसको देखकर ही लंड खड़ा हो गया था और में उसको अपनी बाईक पर बैठकर देखे ही जा रहा था और उसने भी यह नोटीस कर लिया था कि में उसे देख रहा हूँ। तभी थोड़ी देर में मेरा फ्रेंड आया उसने मुझको वो हार्ड कॉपी दी और हमने थोड़ी देर बात की फिर वो भी चला गया.. लेकिन अभी भी में वहाँ पर खड़ा रह कर उसको ही देख रहा था और वो दोपहर का टाईम था और वो भी अब बार बार मेरी तरफ देख रही थी।

फिर मैंने उसको एक स्माईल दी.. लेकिन उसने मुझे कोई जवाब नहीं दिया और पीछे देखने लगी.. लेकिन पीछे कोई भी नहीं था। फिर मैंने वहाँ पर जाकर उसको पूछा कि आपको कहाँ पर जाना है? तो उसने मुझे बताया कि सेटिलाइट। तो मैंने उसको बोला कि में भी वहीं पर जा रहा हूँ.. चलो में आपको रास्ते में छोड़ दूँगा.. लेकिन उसने मना कर दिया। फिर में जाकर बाईक पर बैठ गया और उसको देख रहा था। 15-20 मिनट हो गये.. लेकिन बस आई ही नहीं.. फिर उसने मेरी तरफ देखा और स्माईल दी। तो में समझ गया कि अब गाड़ी पटरी पर आ गयी है और मैंने भी जवाब दिया और एक स्माईल पास कर दी और उसको फिर से बोला अरे यार में आपका रेप नहीं कर दूँगा? तभी अचानक वो हंसी और मेरे लंड की तरफ देखकर बोली कि क्या पता कोई कंट्रोल ना कर पाए और कर दे तो क्या पता? फिर मैंने उससे उसका नाम पूछा तो उसने बोला कि मेरा नाम सीमा है।

में : लेकिन मुझे कंट्रोल करना आता है और में इतना जालिम भी नहीं हूँ कि आपको जबरदस्ती चोदूंगा।
सीमा (मेरे लंड की तरफ देखते हुए) : हाँ वो तो दिख ही रहा है?
तो में समझ गया कि अब रास्ता साफ है बेटा जल्दी से बोल दे.. फिर मैंने दोबारा से पूछा कि चलना है क्या ?
सीमा : मेरा रेप तो नहीं करोंगे ना? और बाईक पर बैठ गई।
में : आप इतनी सुंदर और सेक्सी हो कि कोई भी आपको देखकर ही आपका दीवाना हो जाए और हो सकता है आपका रेप भी कर डाले।
सीमा : ओह्ह तो फिर तुमने क्या सोचा?
में : मैंने तो आपको देखकर ही बहुत कुछ सोच लिया है.. लेकिन हमारा ऐसा नसीब कहाँ कि आप जैसी सेक्सी और हॉट लडकियों के साथ यह सब कर सके?
सीमा : ठीक है चलो छोड़ो अब वो सब बातें और कुछ अपने बारे में बताओ?
में : मेरा नामे राज है में बीकॉम में के पहले साल में पढ़ाई करता हूँ और आप जैसी सुंदर, हॉट लड़कियों की मदद करता हूँ।
सीमा : वाह.. बहुत अच्छे।

में : थोड़ा आपके बारे में भी बता दो?
सीमा : मेरा नाम तो आपको पता ही है और अभी 6 महीने पहले ही मैंने शादी की है और मेर घर बरोड़ा में है.. लेकिन शादी के बाद में अहमदाबाद में रहती हूँ।
में : वाह बहुत अच्छा मुझे तो लगा कि आप एक कॉलेज स्टूडेंट हो.. आंटी जी लेकिन लगता है कि आपने अपने शरीर को बहुत सम्भालकर रखा है आंटी।
सीमा : मुझे आंटी मत बुलावो.. मुझे पसंद नहीं है?
में : आंटी आपके पति क्या करते है?
सीमा : वो एक प्राइवेट कम्पनी में नौकरी करते है.. सुबह 8 बजे जाते है और रात को लेट घर पर आते है और फिर थककर सो जाते है और में पूरा दिन घर में अकेली बोर हो जाती हूँ।
में समझ गया कि सेक्स प्राब्लम है.. तभी में बोला कि में हूँ ना आप मुझको बुला लेना में भी पूरा दिन घर पर अकेले बोर ही होता हूँ।
सीमा : बस यहीं पर बाईक रोक दो.. मेरा घर आ गया है।
में : हाँ ठीक है।
सीमा : अंदर चलो.. चाय पीकर चले जाना।

में : तो में इतना अच्छा मौका कहाँ खोने वाला था और मुझको भी इसका ही तो इंतजार था.. में झट से नाटक करते हुए बोला कि जी नहीं अगली बार।
सीमा : अब चलो भी ना।
में : ठीक है बाबा और में मज़ाक करते हुए बोला कि फिर में रेप कर दूंगा तो बोलना मत।
सीमा : तुम ऐसा कर ही नहीं सकते?
में : ओह तो क्या आपको डेमो ही देना पड़ेगा?
सीमा : तो वो मुझे एक सेक्सी स्माईल देकर रूम में चली गयी और बोली कि इंतजार करो में अभी आती हूँ।
में : ठीक है.. लेकिन में चाय नहीं पीता।
सीमा : तो क्या फिर दूध चलेगा?
फिर थोड़ी देर बाद वो मेक्सी पहन कर आई.. यारों क्या माल लगती थी? काली कलर की मेक्सी और उसका एकदम सफेद बदन.. उसको देखकर मेरा लंड तो झटके मारने लगा।
में : आपका हो तो भी चलेगा।
सीमा : आपको किसने रोका है खुद ही लेकर पी लो?

Please Share this Blog: